यहां के लोग मरने के बाद भी जीवित होते हैं

आपने तो अब तक यही देखा है कि इंसान की मृत्यु हो जाने के बाद परिजन उसका अंतिम संस्कार कर देते हैं। लेकिन Indonesia में मामला कुछ और ही है। यहां एक संप्रदाय (Toraja tribe) ऐसा है जो इंसान की मौत होने के बाद उसके मृत शरीर को अपने साथ रखते हैं। ये लोग मरे हुए इंसान के साथ जिंदा व्यक्ति की तरह ही व्यवहार करते हैं। और तो और, उसे जीवित इंसानों की तरह खाना भी खिलाते हैं। इसके साथ ही उसे सजाना और फोटो लेना जैसे काम भी किए जाते हैं।

क्यों करते हैं ऐसा?

टोराजा संप्रदाय के लोगों को मानना है कि इंसान की मृत्यु होने के बाद उसकी जिंदगी का अगला चरण शुरू हो जाता है। इसलिए यहां मरे हुए लोगों के साथ भी जिंदा इंसानों की तरह ही व्यवहार किया जाता है। इंडोनेशिया में इस परम्परा को लाखों लोग मना रहे हैं।

अंतिम क्रिया भी है कुछ अलग

इस संप्रदाय में मरे हुए व्यक्तियों की अंतिम क्रिया भी कुछ अलग तरह से होती है। बाहर से घूमने आए टूरिस्टों को उनके साथ फोटो लेने का मौका दिया जाता है। साथ ही चाय-नाश्ता भी कराया जाता है। भैंस की बलि देकर मरे व्यक्ति को श्रद्धांजलि दी जाती है।

उसके बाद मृत व्यक्ति के शरीर को घर लाया जाता है। बाद में अनाजघर और बाद में उसे श्मशान ले जाया जाता है। वहां पारम्परिक क्रिया करने के बाद एक और अंतिम क्रिया की जाती है। इस क्रिया में मरे हुए व्यक्ति को उसके पैतृक दुर्ग में सिगरेट और खाने के सामान के साथ रखा जाता है। मृत व्यक्ति का शरीर कई वर्षों तक सुरक्षित रहे, इसके लिए उसके शरीर पर फाॅर्मल्डहाइड और पानी के घोल का लेप किया जाता है।

विदेशी सैलोनियों के बना अजूबा

इंडोनेशिया के टोराजा संप्रदाय की प्रथा विदेशी सैलेनियों के लिए एक अजूबा बनी हुई है। इनके रीति-रिवाजों को देखने के लिए कई विदेशी लोग यहां आ रहे हैं। इस दौरान इस संप्रदाय के लोग टूरिस्टों को मृत व्यक्ति के साथ फोटो खींचने का मौका देते हैं। इतना ही नहीं, मरे इंसान की फोटो अच्छी आए, इसके लिए मृत शरीर का मेकअप भी किया जाता है।

You Might like to Read