जानिए भारत के 10 गांव जिनसे हमे सीखने की जरूरत है

जानिए भारत के १० गांव जिनसे हमे सीखने की जरूरत है  भारत, एक कृषि आधारित अर्थव्यवस्था होने के साथ साथ , विकास के लिए गांवों पर सबसे अधिक निर्भर करता है। जब भी में गाव में जाता हु तो एक अलग सा अहसास होता है बड़ा सकून मिलता है भारतीय गावो में सरसों के खेत , चाय के बागान , मिट्टी के घर , स्वच्छ हवा ये सब खुशहाली वाली चीजे है जिनका भारतीय गावों के साथ संबद्ध हैं
लेकिन दुर्भाग्य से आज अधिकतर गावों की स्थिति काफी खराब हो गई है जिसका कारण है गरीबी, शिक्षा की कमी है, स्वच्छता की कमी, बिजली का न होना आदि लेकिन आज में आपको ऐसे 10 भारतीय गावों के बारें में बताने जा रहा हु जहां जोकि भारत का गौरव है जहां आप जरूर जाना पसंद करेंगे

1.Mawlynnong – Asia’s cleanest village

Mawlynnong , मेघालय में एक छोटा सा गांव है जोकि सफाई और स्वच्छता के मामले में एशिया का सबसे साफ़ गाव है डिस्कवर इंडिया पत्रिका द्वारा 2003 में एशिया ‘ में गांव  शिलांग से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, यहाँ आप को प्लास्टिक का एक भी बैग नहीं दिखाई देगा न ही किसी प्रकार का तम्बाखू का सिगरेट का सेवन किया हुआ कुछ मिलेगा

2. Punsari – The village with WiFi, CCTVs, AC classrooms and मोरे

Punsari , गुजरात में स्थित है जोकि आधुनिक उपकरणों से पूरी तरह सम्पन गाव है जहां शिक्षा संस्थानों में हर क्लासरूम में एयर कंडीशनर लगे हुए है , सड़कों पे गलियों पे हर जगह CCTC कैमरे लगे हुए है और ये गाव पूरी तरह WiFi से युकत है भारत का ये एक इकलौता गाव है जहां ये सब सुविधाए है

3. Hiware Bazar – The village of 60 millionaires

Hiware बाजार, महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में स्थित है ये भारत का एक ऐसा गाव है जहां 60 लोग करोड़पति है और मुस्किल से कोई गरीब देखने को मिलता है यहाँ के लोगो ने अपने आप को पूरी तरह किसी भी नशे से दूर रखा है यहाँ के लोगो के पास एक प्रकार की Popatrao पवार होती है जिसका सभी लोगो को सम्मान करना पड़ता है बारिश के पानी में निवेश करने के लिए खर्च को कम करने के लिए और ग्रामीणों कटाई, दुधारू पशु, आदि को प्रोत्साहित किया

4. Dharnai – First fully solar-powered village

Dharnai , बिहार के एक गांव जहां सालो से बिजली ना होने के कारण गाव के लोगो को बहूत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था लेकिन सरकार की तरफ से कोई भी सहायता ना हो पाने से गाव के लोगो ने हार नहीं मानी और बिजली के लिए अपने स्वयं के सौर ऊर्जा संचालित प्रणाली विकसित करके 30 साल के अंधेरे को दूर किया Dharnai को जुलाई में एक enery स्वतंत्र गांव घोषित कर दिया अब छात्रों को किसी तरह से पढ़ाई करने में कोई परेशानी नहीं होगी |

5. Chappar – A village that distributes sweets when a girl is born

हरियाणा में छप्पर गांव में एक महिला सरपंच है। लेकिन नीलम कोई साधारण सरपंच महिला नहीं । ग्रामीणों का रवैया बदलने के लिए उसके जीवन का मिशन बना जोकि गांव की महिलाओं को अब और घूँघट में नहीं रहना ये एक ऐसा गाव है जहां लड़कियों के पैदा होने पर मिठाई और उत्सव के साथ दुनिया में स्वागत किया है

6.Kokrebellur – A village that really loves its birds

Kokrebellur , कर्नाटक में एक छोटा सा गांव है, यहाँ के लोग प्रकृति के संरक्षण में विश्वास रखता है जबकि अधिकांश अन्य गांवों पक्षियों और वन्य जीवो को एक बाधा मानते हैं ज्यादा मनुष्य। ग्रामीणों परिवार के रूप में अपने पंखों वाला हमवतन इलाज के लिए और राशि यहां तक कि घायल पक्षियों के आराम और चंगा करने के लिए एक क्षेत्र बनाया। कमाल है, यह नहीं है?

7. Ballia – The village that beat arsenic poisoning with an indigenous method

उत्तर प्रदेश के बलिया गांव के लोगो को एक खुजली की समस्या थी जोकि पानी से जुडी थी पानी में आर्सेनिक की मात्रा ज्यादा होने के कारण गंभीर त्वचा की समस्याओं का कारण बनता है सरकार ने इनके लिए कुछ कदम तो उठाए लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ तो गाँव के लोगो ने मिलकर इस समस्या का समाधान निकलने की ठानी और अपने पुराने कुओ को वापस सुरक्षित किया और इन्होने आर्सेनिक,पर विजय पाई

8. Pothanikkad – The village with a 100% literacy rate

केरल में , Pothanikkad गांव देश में पहली बार एक लक्ष्य को हासिल किया 100% साक्षरता दर इतना ही नहीं शहर की मानक उच्च विद्यालयों के गांव दावा है, लेकिन यहाँ प्राथमिक स्कूलों और निजी स्कूल ने भी शिक्षित किया हैं 2001 की जनगणना के अनुसार वहां 17,563 में रहने वाले निवासी हैं गाँव की सबसे अच्छी बात यह है कि यहाँ हर सवाल का जवाब है

9. Bekkinakeri – The village that rid itself of open defecation

कर्नाटक में Bekkinakeri गांव जहां खुले में शौच की प्रथा को रोकने के लिए गाँव की ग्राम परिषद ने सुबह जल्दी उठ कर खुले में शौच करने वाले लोगो से रोज प्रार्थना करते है शर्मिंदा हो कर लोगो ने खुले में शौच करना बंध कर दिया अब गाँव का कोई भी लोग खुले में शौच नहीं करता

10. Shani Shingnapur – A village so safe that people don’t need doors

Shani Shingnapur महाराष्ट्र में स्थित एक गांव है हर अखबार को खारिज कर देता है ये भारत का सबसे सुरक्षित गांव है जहां चोरी होने का डर बिलकुल नहीं है गाँव के लोगो का आपस में इतना विस्वास है की यहाँ के घरों में दरवाजे नहीं लगाए जाते और गाँव का किसी भी पुलिस स्टेशन से कोई लेना देना नहीं है और यहाँ के बैंक में भी दरवाजे नहीं है

1,911 total views, 4 views today