सुअर के नवजात बच्चे के सिर पर सूंड लोगो ने माना भगवान

अंधविश्वास का कोई इलाज नहीं होता। बठ‌िंडा में लोगों ने जानवर के एक नवजात में आश्चर्यजनक लक्ष्‍ण देखे तो खबर फैलते ही माथा टेकने के ल‌िए भीड़ उमड़ पड़ी। लोगों का कहना था क‌ि सुअर के नवजात बच्चे के सिर पर सूंड है।

ये कौतहुल मंगलवार को शहर के लाईनपार क्षेत्र में स्थित रामबाग के पास शीना नामक व्यक्ति के घर पर बना। महज कुछ ही घंटे में पूरे शहर में खबर आग की तरह फैली और भारी संख्या में लोग इसे देखने के लिए इक्कठे हो गए।

कुछ लोगों ने तो उसे भगवान का अवतार भी करार दिया। पूजा की, चढ़ावा चढ़ाया, मनोकामना की पूर्ति के लिए प्रार्थना भी की। बताया जाता है कि जन्म के कुछ घंटों के बाद ही नन्हें जानवर की हालत बिगड़ी और उसने दम तोड़ दिया।
सुअर के नवजात बच्चे के सिर पर सूंड लोगो ने माना भगवान

भारत में अधिकतर गावों के लोगो में अंधविश्वास के अनेको उदहारण देखने को मिलते है आज के समय में विज्ञान कितनी आगे जा चूका हे मगर गावो की भोली भाली जनता को ये पता नहीं है अब इस घटना को ही देख लीजिए असल में सुअर के नवजात बच्चे के सिर पर सूंड।

गंभीर शारीरिक विकृति जोकि आनुवंशिक विकार के चलते हुई है लेकिन लोगो का कहना है की ये भगवान का अवतार है ऐसी घटना के अनेको उदहारण देखने को मिलते इसकी सबसे बड़ी वजह है गावो में लोगो का शिक्षित ना होना ये ऐसे लोग होते है जो दूसरों की बातो पर ज्यादा विस्वास करते है।

अंधविश्वास की कुछ घटनाए तो ऐसी है जिनमें नर बलि भी दे देते है लोग हर साल हज़ारो लोगो की जाने जाती है अंधविश्वास के चलते और सबसे बड़ा कारण है वो पाखंडी बाबा जो लोगो को ऐसा करने को कहते है।